Skip to content

चुदक्कड़ बीवियां एक दूसरी को लंड भेजती हैं


हॉट लेडीज़ फक स्टोरी में पढ़ें कि लंड की शौकीन भाभियाँ कैसे अपने चोदुओं को अपनी सहेलियों के पास भेज देती हैं और उनके चोदुओं को बुलाकर अपनी चूत मरवाती हैं.

आजकल बीवियों के बीच क्या क्या होता है इसकी खबर किसी को नहीं होती!
कोई सोच भी नहीं सकता कि ऐसा भी होता होगा।
वास्तव में जो बीवी ऊपर से बड़ी सीधी साधी नज़र आती है वह अंदर ही अंदर क्या क्या गुल खिला रही है यह किसी को भी पता नहीं चलता।

अक्सर यह देखा गया है कि बीवियां जितनी खूबसूरत होतीं हैं उतनी ही पराये मर्दों से चुदवाने का मज़ा लूटने वाली होती हैं।

अगर आप नजदीक से इन्हें देखें तो ऐसी बीवियां हसबैंड के बाहर जाते ही अपना काम शुरू कर देती हैं।
ये या तो बाहर चली जातीं हैं चुदवाने के लिए या फिर चोदने वाले को अपने घर में ही बुला लेती हैं।

अब तो एक और नया काम शुरू हो गया है।
ये चूत चोदी चुदक्कड़ बीवियां एक दूसरी को लण्ड सप्लाई करने लगी हैं।

पहले किसी पराये मरद से चुदवाती हैं और फिर उसी मर्द को अपनी किसी सहेली के पास भेज देती हैं।
जिसको भेजती हैं, वह भी किसी और से चुदवाती है और वह उसे उस आदमी के बदले में भेज देती है।

आपस में इस तरह मर्द की अदला बदली हो जाती है; लण्ड की अदला बदली हो जाती है।
यह सिलसिला दो बीवियों के बीच नहीं बल्कि कई बीवियों के बीच में होता है।

इसका फायदा यह होता है कि बीवियां घर बैठी बैठी पराये मर्दों से चुदवाती रहती हैं; हर रोज़ नए नए लण्ड पेलवाती रहती हैं अपनी चूत में!
ऐसी बीवियां चुपके चुपके चुदाई का मस्त मज़ा लेती रहतीं हैं और अपने हसबैंड को कभी इसकी भनक भी नहीं लगने देतीं.
इनका दिमाग बस नए नए पराये मर्दों के लण्ड ढूंढने में लगा रहता है।

मेरी इस हॉट लेडीज़ फक स्टोरी में यही सब है.

यह कहानी सुनें.

Audio Player

00:00
00:00
00:00

Use Up/Down Arrow keys to increase or decrease volume.

मेरा नाम मिसेज रेहाना है।
मैं आपको मिसेज आरती से मिलवाती हूँ।

ये है मिसेज आरती 30 साल की एक मद मस्त हॉट बीवी।
इसे पराये मर्दों से चुदवाने का जबरदस्त शौक है और ये अपना शौक हर हाल में पूरा करती है।
आरती बोली- हां, मैं हर रोज़ गैर मर्द से चुदवाती हूँ इसमें कोई शक नहीं। मुझे हर रोज़ एक नया लण्ड चाहिए।

इतने में उसके फोन की घंटी बज उठी।
उधर से आवाज़ आयी- यार आरती, तुमने जो लण्ड भेजा है वह कमाल का है यार! वह साला मुझे 3 बार चोद चुका है और कहता है कि अब एक बार और चोदूंगा तब जाऊंगा। लौड़ा तो बड़ा मोटा है मज़ा आ रहा है यार! अच्छा सुनो कल मेरी मौसी आने वाली है. उसका भोसड़ा चुदवाना है मुझे! कोई इसी तरह का लौड़ा कल भेज देना!
आरती बोली- ठीक है, भेज दूँगी।

मैंने बात शुरू की तो एक और फोन आ गया।
उर्मिला का फोन था, वह बोली- आरती, अभी तेरे पास दो लड़के आ रहे हैं। उनके लण्ड हैंडसम भी हैं और सख्त भी। मुझे चोदने के साथ साथ मेरी जेठानी का भोसड़ा भी चोदा है दोनों ने! तुम आज दोनों से एक साथ चुदवाकर देखना मज़ा आ जायेगा। उनका कोड है ‘लण्ड की लार’ … नाम हैं जॉन और पीटर। और हां, अगर तुझे कोई काला लण्ड मिले तो मुझे भेजना। मैं भी चुदवाऊंगी और अपनी ननद की चूत में भी पेलूँगी काला लण्ड! वह भी बुरचोदी मेरी ही तरह गज़ब की चुड़क्कड़ बीवी है। बड़े बड़े लण्ड गटक जाती है भोसड़ी वाली! उसे काला लण्ड बहुत पसंद है।

तब तक किसी ने कॉल बेल बजा दी।
आरती ने दरवाजा खोला तो अपने सामने दो लड़को को खड़ा देखा।

उन्हें अंदर बुलाकर आरती ने पूछा- कोड नंबर?
वह बोला- लण्ड की लार!

फिर क्या … वह दोनों को मेरे पास ले आयी, बोली- ये है जॉन और ये है पीटर।
फिर उनसे कहा- ये है मेरी दोस्त बुरचोदी रेहाना।

मैं यह सुनकर मुस्करा पड़ी।
आरती ने ड्रिंक्स चालू कर दी।

मुझे भी उनके साथ शराब पीने में मज़ा आने लगा।

दोपहर का समय था, उसने फोन उठाया और अपने पति से कहा- मैं ताला बंद करके अपनी दोस्त के घर जा रही हूँ शाम को थोड़ी देर हो जाए तो चिंता न करना।

वह उठी और मेरे साथ बाहर गयी.
बाहर दरवाजे पर ताला लगाया और बगल के एक छोटे से दरवाजे से फिर अंदर आ गयी और अंदर से कुंढी बंद कर ली।
अब जो भी बाहर देखेगा वह समझेगा कि अंदर कोई नहीं है, सब लोग बाहर गए हैं।

ये पराये मर्दों से चुदवाने वाली बीवियां चुदाई के नए नए तरीके नए नए बहाने निकाल ही लेती हैं।

आरती ने बियर का इंतज़ाम कर रखा था।
मैं रेहाना, आरती, जॉन और पीटर … हम चारों बियर पीने लगे।

आरती ने पूछा- तुम लोग कब से चोद रहे हो उर्मिला की चूत?
पीटर बोला- अभी तो हम लोगों ने पहली बार ही चोदा है उसे!

आरती बोली- कैसी लगी तुम लोगों को उसकी चूत?
जॉन बोला- बहुत बढ़िया, बहुत टाइट और बहुत खूबसूरत है उसकी बुर! मज़ा आ गया हमको उसे चोदने में! बड़ी मस्त होकर चुदवाती है।

आरती बोली- तुमको किसने उर्मिला के पास भेजा था?
पीटर बोला- मिसेज मन्दाकिनी ने। वह तो गज़ब की चुदक्कड़ औरत है। वह हमेशा 2 /3 लोगों से एक साथ चुदवाती है, एक से कभी नहीं।

यह सब सुनकर हम लोगों की चूत का कबाड़ा हो गया बहनचोद!
हम दोनों उनको नंगा देखने के लिए बेताब हो गईं, उनके लण्ड के दर्शन करने के लिए व्याकुल होने लगी।

आरती ने आँख मार कर इशारा किया कि क्यों न हम लोग अपना नंगा जिस्म दिखा कर उनके लण्ड खड़े कर लें!
मैंने भी इशारे से हां कह दी।

फिर क्या … हम दोनों अपने कपड़े उनके सामने उतारने लगीं।
अब चुदाई का मज़ा लेना है तो चोदने वालों चुदाने वालियों को नंगा होना पड़ेगा ही!

बेशरम तो हम मादरचोद बहुत पहले हो ही गयी थीं।

आरती बोली- चुदाने के लिए कहो तो मैं सड़क पर सबके सामने नंगी हो जाऊं! रंडी भी मुझे देखकर शर्मा जाएगी लेकिन मैं नहीं शरमाऊंगी।

फिर हम दोनों अपनी अपनी चूचियाँ खोल कर उनके साथ बीयर पीने लगीं।
जब थोड़ा नशा चढ़ा तो नीचे के कपड़े भी उतार कर फेंक दिये। हम अपने नंगे जिस्म की पूरी तरह नुमाईश करने लगीं।

हम दोनों को नंगी देख कर जॉन और पीटर आँखें फाड़ फाड़ कर हमारे जिस्म देखने लगे। हम भी अपनी चूचियाँ अपनी चूत अपनी गांड सब घूम घूम कर दिखाने लगीं।

फिर उसने जॉन को नंगा किया और मैंने पीटर को!
दो दो मर्दों को नंगा देख कर मेरे बदन में आग लग गयी और आरती के बदन में भी!

वह जॉन का लौड़ा पकड़ कर हिलाने लगी और मैं पीटर का लौड़ा पकड़ कर!
लौड़े दोनों के सच में बड़े मोटे तगड़े थे।

मैं पीटर का लण्ड चूमने चाटने लगी और आरती जॉन का लण्ड!
आरती की तरह मैं भी पराये मर्दों के लण्ड की दीवानी हूँ।

उसने कहा- यार, हम लोग जबसे लण्ड एक दूसरी को सप्लाई करने लगी हैं, तबसे बड़ा मज़ा आ रहा है। हर रोज़ मुझे कोई न कोई नया लण्ड चोदने आ जाता है। कभी कभी दो दो / तीन तीन लण्ड एक साथ आ जाते हैं। मेरी चूत हमेशा चुदती ही रहती है।

इतने में जॉन मेरी चूत चाटने लगा और पीटर आरती की बुर!
एक मरद से चूत चटवाते हुए दूसरे मरद का लण्ड चाटने में बड़ा मज़ा आ रहा था।

फिर जॉन ने लण्ड आरती की चूत में पेल दिया और चोदने लगा।
आरती मस्ती से चुदवाने लगी।

उसे देख कर मेरी चूत भी चुलबुला उठी और तब पीटर ने लौड़ा घुसा दिया मेरी चूत में!
हम दोनों आमने सामने चुदने लगीं।

मैं आज जब घर से चली थी तो मुझे मालूम नहीं था कि आज मुझे कोई चोदेगा और मैं किसी से चुदवाऊंगी।

आरती से मैं बहुत दिनों के बाद मिली और मिली तो नंगी नंगी लण्ड पेलवाती हुई मिली।

मैं कितनी लकी हूँ यार!
आरती बोली- तू क्या … मैं भी मादर चोद बहुत लकी हूँ। मुझे अकेले अकेले चुदवाने में झांट कुछ मज़ा नहीं आता। मैं तो किसी न किसी के साथ ही चुदवाती हूँ। आज तेरे साथ चुदवा रही हूँ तो ज़न्नत का मज़ा आ रहा है। ज्यादा मज़ा किसी के साथ चुदवाने में ही आता है। तू भोसड़ी की बड़ी मस्त बीवी है यार! तू भी मेरी ही तरह अपने हसबैंड को धोखा देकर पराये मर्दों से चुदवाती है।

मैंने कहा- हसबैंड की माँ का भोसड़ा … हसबैंड की बहन की बुर! मैं हसबैंड को देखूं या अपनी चूत को? मैं अपनी चूत का कहना मानूं या अपने हसबैंड का? हसबैंड जाए गधे की गांड में! मैं तो वही करती हूँ जो मेरी चूत कहती है। मैं तो अपनी चूत की गुलाम हूँ।

फिर जॉन ने लण्ड आरती की चूत से निकाल कर मेरी चूत में घुसा दिया और पीटर ने भी मेरी चूत से लण्ड निकाल कर आरती की चूत में पेल दिया।

पीटर आरती की चूत लेने लगा और जॉन मेरी!
हम दोनों रंडी की तरह धकाधक चुदवाने लगी।

चूत जब एक बार खुल जाती है तो वह लण्ड पे लण्ड खाती चली जाती है।
चाहे जितने लण्ड पेलो उसमें … वह लण्ड निगलती जाती है चूत चोदी।

चुदाई इतनी मस्त हो रही थी कि मेरी चूत बहनचोद ढीली हो गयी।
तब तक आरती की भी चूत बोल गयी।

उधर हॉट लेडीज़ फक के बाद दोनों लण्ड भी किनारे आ गए।

मैंने जॉन के लण्ड का सड़का मारना शुरू कर दिया और आरती ने पीटर के लण्ड का।
दोनों लण्ड हम लोगों के मुंह में ही झड़ गए जो हम चाहती थीं।

फिर हम दोनों ने मस्ती से झड़ते हुए लण्ड चाटने का मज़ा लिया।
उसके बाद हमने उस दोनों को घर से चले जाने को कहा.

वे दोनों अपने कपड़े पहन कर निकल लिए.

तो देखा आपने दोस्तो, कि आजकल की बीवियां पराये मर्दों से चुदवाने के लिए क्या क्या नए नए तरीके अपनाती हैं।

हॉट लेडीज़ फक स्टोरी में मजा आया होगा?
अपने विचार मेल और कमेंट्स में भेजें.
[email protected]

अगर आपने मेरी पिछली कहानी
अंग्रेजी सीखने गयी लंड लेकर आई
नहीं पढ़ी है तो उसे भी पढ़ कर मजा लें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *